अंतर्राष्ट्रीय

दिल्ली-एनसीआर में शीतलहर से राहत! हिमालय पर बारिश

दिल्ली-NCR समेत उत्तर भारत में शीतलहर में कमी से लोगों ने राहत की सांस ली है. मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक ठंड में कमी का अनुमान लगाया है. गुरुवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री रहा.

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड (Cold Wave) पड़ रही है. पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से मैदानी इलाकों में पारा गिर गया है और लगातार सर्दी का सितम बढ़ता ही जा रहा है. दिल्ली से लेकर यूपी-बिहार और पंजाब-हरियाणा तक कड़ाके की ठंड की चपेट में हैं.

जम्मू-कश्मीर में ठंड का आलम तो यह है कि पहलगाम में बुधवार को न्यूनतम तापमान गिरकर शून्य से 11.7 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया. वहीं, दिल्ली में लगातार आठ दिनों से शीतलहर का प्रकोप जारी है और बुधवार को न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग (IMD) की मानें तो 21 जनवरी से 25 फरवरी के बीच देश के मौसम में बदलाव दिखेगा और बारिश, बर्फबारी और तेज हवाओं का ट्रिपल अटैक होगा.

अगले सप्ताह बारिश, बर्फबारी का अलर्ट जारी
उत्तर भारत में जारी भीषण ठंड और कोहरे की मार के बीच मौसम विभाग ने बारिश, बर्फबारी और ओलावृष्टि का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली सहित उत्तर पश्चिमी भारत में अगले सप्ताह हल्की से मध्यम बारिश और 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ ओलावृष्टि होने का अनुमान है.

आईएमडी ने कहा कि एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ 21 जनवरी से 25 जनवरी तक उत्तर पश्चिमी भारत को प्रभावित कर सकता है. इसके साथ ही एक बार फिर से उत्तर भारत में ठंड बढ़ जाएगी. हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में शीतलहर से लेकर गंभीर शीतलहर की स्थिति की उम्मीद है. दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शीत लहर चल सकती है.

बारिश और हिमपात का अलर्ट
मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि उत्तर पश्चिम भारत में शीतलहर की स्थिति आज यानी 19 जनवरी से समाप्त होने की संभावना है. मौसम विभाग ने बताया कि 19 जनवरी को हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और उत्तराखंड के कुछ इलाकों में बर्फबारी और बारिश हो सकती है. इसके अलावा एक्टिव पश्चिमी विक्षोभ की वजह से दिल्ली से लेकर पूरे उत्तर भारत में 21 जनवरी से 25 जनवरी के बीच बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग के अनुसार, ‘इसके प्रभाव से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में 21 जनवरी के शुरुआती घंटों में बारिश या हिमपात शुरू होने और 23-24 जनवरी को चरम गतिविधि के साथ 25 जनवरी तक इसके जारी रहने की संभावना है.’ मौसम विभाग ने कहा कि 23 और 24 जनवरी को जम्मू, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर हल्की से मध्यम ओलावृष्टि होने की संभावना है.

राजस्थान से लेकर पंजाब में कैसी ठंड
इस बीच, राजस्थान में फतेहपुर, सीकर, चूरू और करौली में रात का तापमान जमाव बिंदु से नीचे चला गया और पूरे प्रदेश में कड़ाके की सर्दी का सितम जारी है. पंजाब और हरियाणा में भी कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है. प्रदेश के अधिकांश इलाकों में न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे बना रहा. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, पंजाब के बठिंडा और फरीदकोट में भीषण ठंड पड़ रही है. यहां का न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य से 0.2 डिग्री सेल्सियस नीचे और 0.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया.

10 साल में दूसरी बार भयंकर शीतलहर
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, दिल्ली में पांच से नौ जनवरी तक भीषण शीतलहर चली जो एक दशक में इस महीने में प्रचंड शीतलहर की दूसरी सबसे लंबी अवधि रही. दिल्ली में सर्दी के मौसम में अभी तक बारिश नहीं हुई है. उधर, कश्मीर में न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से और नीचे गिर गया जबकि मौसम विभाग ने बृहस्पतिवार से बारिश और हिमपात होने की भविष्यवाणी की है.

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली समेत उत्तर भारत में 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी और पंजाब, हरियाणा से लेकर चंडीगढ़, यूपी, राजस्थान में 23 से 25 के बीच में बारिश होगी. मौसम विभाग का कहना है कि नवंबर और दिसंबर में मजबूत पश्चिमी विक्षोभ बारिश न होने का कारण था.

Related Articles

Back to top button