मध्यप्रदेश

मप्र कर्मचारी चयन मंडल के लिए बनी फांस 3200 आपत्तियों का निराकरण करना, रिजल्ट में होगी देरी

भोपाल

मप्र कर्मचारी चयन मंडल को पटवारी भर्ती परीक्षा का रिजल्ट तैयार करने में कड़ी मशक्कत करना पड़ रही है, क्योंकि परीक्षा में पूछे गए सवालों पर 3200 आपत्तियां दर्ज हुई हैं। उनका निराकरण करने में ईएसबी को काफी मेहनत करना पड़ रही है। इसके चलते रिजल्ट जारी होने में विलंब भी हो सकता है।  ईएसबी ने मार्च और अप्रैल में पटवारी के छह हजार 755 पदों पर भर्ती कराने के लिए 12.79 लाख आवेदकों की परीक्षा आयोजित कराई थी। परीक्षा को 35 दिनों की 70 पारियों में पूरा किया गया।

 विद्यार्थियों से 200-200 से प्रश्न हल कराए
 हरेक पारी में विद्यार्थियों से 200-200 से प्रश्न हल कराए गए हैं। इस गणित से ईएसबी को पूरी परीक्षा में करीब 14 हजार प्रश्न उम्मीदवारों से हल कराए हैं। परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवारों ने करीब 3200 आपत्तियां दर्ज कराई हैं, जिनका निराकरण ईएसबी को करना है। उनके निराकरण करने में ईएसबी के अधिकारियों को परेशानी हो रही है, क्योंकि आपत्तियों का निराकरण किए बिना ईएसबी रिजल्ट जारी नहीं कर सकता है।

एक माह का समय
पटवारी में सिलेक्शन को लेकर उम्मीदवारों में काफी क्रेज बना हुआ है। वे माडल आंसर से अपना अघोषित रिजल्ट तैयार कर चुके हैं। उन्हें सिर्फ ईएसबी के फाइनल रिजल्ट का इंतजार है। वहीं ईएसबी भी रिजल्ट देने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहा है। प्रश्नों की संख्या के साथ आपत्तियों की संख्या ज्यादा होने के कारण मूल्यांकन और निराकरण में समय लग रहा है। इसके कारण जून में रिजल्ट आना मुश्किल दिखाई दे रहा है। जुलाई के दूसरे सप्ताह तक फाइनल आंशरशीट जारी होने के बाद ही रिजल्ट जारी किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button