गैजेट

रियलमी ने विवादित फीचर किया डिसेबल

नई दिल्ली

हाल ही में रियलमी पर एक बड़ा आरोप लगा था कि रियलमी कंपनी बिना यूजर की इजाजत के उनके डेटा को कलेक्ट करती है। इस बाबत एक ट्विटर यूजर ने रिपोर्ट शेयर की थी, जिसके जबाव में सरकार ने जांच का भरोसा दिया था। हालांकि सरकारी दखल से पहले ही रियमी ने अपनी गलती मान ली है। रियलमी की मानें, तो वो Realme 11 Pro और Realme 11 Pro प्लस की इनोवेटिव इंटेलिजेंट सर्विसेज सर्विस को बंद करेगा।

यह फीचर ऑटोमेटिक तरीके से फोन में एक्टिवेट था। कंपनी ने इस फीचर को बंद करने के लिए सॉफ्टवेयर अपडेट दिया है। वही यूजर्स अगर चाहें, तो इस फीचर को मैन्युअली डिसेबल कर सकते हैं। एक ट्विटर यूजर ने बताया था कि कैसे Realme फोन पर एन्हांस्ड इंटेलिजेंट सर्विसेज का इस्तेमाल करके यूजर डेटा को कलेक्ट किया जाता है। रियलमी अनरीड मैसेज, मिस्ड कॉल, कैलेंडर ईवेंट समेत कई तरह का डेटा कलेक्ट करती थी।

कैसे करें चेक
इसके लिए सबसे पहले आपको फोन के सेटिंग ऑप्शन में जाना होगा।
इसके बाद एडिशनल सेटिंग ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
फिर सिस्टम सर्विस पर क्लिक करना होगा।
इसके बाद पता लग सकेगा कि इन्हैंस इंटेलिजेंस सर्विस डिसेबल या फिर इनेबल है?

रियलमी का डेटा चोरी पर बयान
कंपनी का कहना है कि वो यजर की प्राइवेसी का पूरी तरह से ख्याल रखती है। साथ ही इस दिशा में लगातार काम कर रही है। यूजर चाहें, तो अब इन्हैंस इंटेलिजेंट सर्विस का मैन्युअली टर्न ऑन या फिर ऑफ कर सकते हैं। रियलमी का कहना है कि कंपनी भारत के सभी कानून और रेगुलेशन का पालन करती है।

Related Articles

Back to top button